Sanskrit

 
संस्कृत विभाग
जयतु संस्कृतम् जयतु भारतम्
इन्दिरा कला संगीत विश्वविद्यालय , खैरागढ़ में कला संकाय के अन्तर्गत संस्कृत विभाग स्थापित है। 1971 से 2017 तक की अवधि में विभाग ने अनेक उपलब्धियों को प्रकाशित किया है। संस्कृत साहित्य, ललित कलाओं के ज्ञान को सम्पुष्ट करता है तथा संस्कृत भाषा के माध्यम से ललित कलायें अभिव्यक्त होती है। इस दृश्टि से संगीतादि कलाओं के सहायक के रूप में संस्कृत विभाग कार्य कर रहा है। बी.पी.ए. पाठ्यक्रम के तहत् सहायक विशय के रूप में संस्कृत साहित्य एवं संस्कृत भाषा का अध्यापन किया जा रहा है। थ्नदबजपवदंस ैंदेातपज का एकवर्षीय डिप्लोमा भी विभाग द्वारा चलाया जा चुका है।
संस्कृत साहित्य का ललित कलाओं से अन्तःसम्बन्ध स्थापित करने की दृश्टि से अन्तर अनुषासनात्मक शोधकार्य  विभाग द्वारा किये जाते हैं। सम्प्रति विभाग में तीन शोधार्थी पंजीकृत हैं।
समय-समय पर विभाग द्वारा संकाय स्तर पर कालिदास समारोह तथा संस्कृत दिवस का आयोजन किया जाता रहा है। राश्ट्रीय तथा अन्तर्राश्ट्रीय संगोश्ठियां विभाग के माध्यम से आयोजित की गई हैं। यथा 5-6 सितम्बर 2014 में ‘‘महाकवि भास के रूपकों में ललित कला निदर्षन’’ विशय पर राश्ट्रीय संगोश्ठी आयोजित की गई। जिसकी स्मारिका ‘भास तरंग’ सम्प्रति प्रकाषित हुई।
इस प्रकार संस्कृत विभाग ललित कलाओं को निरन्तर प्रोत्साहन प्रदान करता है। संस्कृत विभाग में 2008 से वर्तमान स्थिति तक सहायक प्राध्यापिका के रूप में डाॅ. पूर्णिमा केलकर कार्य कर रही हैं।
वर्तमान विभागाध्यक्ष-प्रो. काषीनाथ तिवारी हैं।
 
                                                             

FACULTY MEMBERS:-

Prof. I.D. Tiwar

Designation :- DEAN & Head(In-charge)

Mobile :- +91 940623952

Email Id :- [email protected]

Prof. I.D. Tiwar


Dr.(smt.)  Poornima Kelkar
 
Designation :- Asst. Professer
 
Mobile :- +91   9098128397
 
Email Id :- [email protected]
 

Fageshwar Sahu 

Designation :- Guest Lecturer

Mobile :- +91 8349412947

Email Id :- [email protected]